10th के बाद क्या करे (10th ke baad kya kare)

10th के बाद क्या करे (10th ke baad kya kare) हर स्टूडेंट के मन में सवाल आता है. खास कर जब 10वीं के रिजल्ट जाते है. आना भी जरुरी है क्यूकी यही से हमारा पूरा कैरियर Decide होता है आगे चल कर आप क्या बनना चाहते है या भविष्य में क्या करना चाहते है | कई बार गलत subject लेने के कारण हम आगे जाकर फेल हो जाते है उस सब्जेक्ट में हमें रूचि नहीं होती है और फिर हमारे पास ऑप्शन भी नहीं होता है | 10वीं के बाद हमारे पास बहुत से ऑप्शन होते है लेकिन हमें सही सब्जेक्ट का चुनाव करना जरुरी होता है | अगर आप सही सब्जेक्ट का चुनाव करते है तो आप अपने कैरियर को अच्छा बना सकते है | 10th के बाद कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए | किस सब्जेक्ट को लेने से आपको कौन कौन से कैरियर ऑप्शन मिलते है | इस पोस्ट में पूरी जानकारी देने जा रहे है अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगे तो कृपया इस पोस्ट को शेयर करे और कमेंट करके फीडबैक भी जरूर दे जिससे हम आपके लिए और अच्छी जानकारिया लेकर आये |

  10 के बाद क्या करें


10th ke baad kya kare -10th के बाद क्या करे ?

10वीं तक सभी विधार्थियो को एक समान सब्जेक्ट पढ़ाये जाते है जैसे ही 10वीं पास कर लेते है, सभी छात्रों को अपने मर्जी के हिसाब से सब्जेक्ट लेने की आजादी मिल जाती है | आप आगे जाकर क्या करना चाहते है कोई जॉब करना चाहते है या बिज़नेस करना चाहते है, डॉक्टर, इंजीनियर, आर्किटेक्ट , अकाउंटेंट, अध्यापक आदि बनना चाहते है तो आपको उसकी हिसाब से सब्जेक्ट चुनना होता है | 10th के बाद कौन सा सब्जेक्ट ले स्टूडेंट्स के सामने बहुत बड़ा सवाल होता है क्युकि एक गलती से आपका कैरियर ख़राब भी हो सकता है | वैसे तो 10th के बाद आमतौर पर 3 स्टीम ही होती है Science,Commerce, Arts और तौथा ऑप्शन होता है ITI, Diploma course जिन्हे आप चुन सकते है | अब सवाल ये है की आखिर कौनसा स्टीम चुने तो सबसे पहले आपको यह जान लेना जरुरी है की किस स्ट्रीम को चुनने से क्या क्या कैरियर ऑप्शन मिलते है |


10th के बाद Arts सब्जेक्ट में कैरियर ऑप्शन :

अगर आप 10वी के बाद आर्ट लेना चाहते है तो आपके पास ढेरो कैरियर ऑप्शन मजूद होते है जैसे की वकील, टीचर, लेखक, पत्रकार (Generalist), नेता politician, बैंक क्लर्क आदि बन सकते है | IAS की तैयारी भी कर सकते है | तथा नीचे दिए गए लिस्ट में से कोई एक कैरियर ऑप्शन भी चुन सकते है |  
  • Archaeology
  • Anthropology
  • Civil Services
  • Cartography
  • Economist
  • Geographer
  • Heritage Management
  • Historian
  • Library Management
  • Political Science
  • Population Science
  • Psychology
  • Sociology
  • Social Service
  • Teaching
  • Linguistics
  • Mass Communication / Media
  • Philosophy
  • Research
  • Writing
  • Hospitality Industry
  • Fine Arts
  • Performing Arts
  • Fashion Designing
  • Interior Designing
  • Travel and Tourism Industry
  • Law
 

Arts में कौन कौन से सब्जेक्ट होते है :

History ( एतिहास ) : अगर आप इतिहास के बारे में जानना चाहते है इसमें रूचि रखते है तो आप इतिहास को ले सकते है | इसमें प्राचीन काल में हुई घटनाये एवं परम्परावो की जानकारी मिलती है |

Sociology (समाज शास्त्र ) : अगर आप समाज में क्या समस्याएं होती है समाज किस प्रकार चलता है जानने में रूचि रखते है तो इसको भी ले सकते है |

Political Science (राजनीति शास्त्र ) : अगर आप राजनीति क्या है कैसे काम करता है यह जानना चाहते है तो इस सब्जेक्ट को जरुर पढ़े. इसमें आपको राज्य, भारत विश्व की राजनीती, राजनीतिक गठबंधन, सरकार की शक्तियां, मौलिक अधिकार आदि जैसे विषय पढ़ाया जाता है.

Philosophy (दर्शन शास्त्र ) : इस सब्जेक्ट में आपको लोगो के सोचने का तरीका, किसी के तनाव की वजह क्या हो सकता है, कोई व्यक्ति कैसे खुश रह सकता है यानि लोगो की समसयाओ को समझने का तरीका बताया जाता है |


Geography (भुगोल ) : इस सब्जेक्ट में पृथ्वी की संरचना, भूकंप, वातावरण, सुनामी, जंगल, वनस्पति आदि के बारे में इस सब्जेक्ट में बताया जाता है|

Psychology (मनोविज्ञान) : अगर इंसान के दिमाग और उसके गतिविधि को समझना चाहता है तो आप Psychology को ले सकते है |


Hindi (हिंदी) : इस सब्जेक्ट में हिंदी व्याकरण और हिंदी की शुद्धि कैसे करे सिखाया जाता है | ज्यादा तर छात्र हिंदी लेना पसंद करते है आप इस सब्जेक्ट को भी चुन सकते है |

English (अंग्रेजी ) : अगर आप इंग्लिश सीखने और समझने के इच्छुक है तो आप यह सब्जेक्ट ले सकते है. इस सब्जेक्ट में आपको इंग्लिश ग्रामर के रूल्स और लेखक द्वारा लिखे उपन्यास, कहानी कविता पढ़ाया जाता है आज के समय में इग्लिश का ज्ञान होना जरुरी भी है तो आप यह सब्जेक्ट ले सकते है |

Sanskrit (संस्कृत) : संस्कृत एक हिंद-आर्य भाषा हैं जो हिंद-यूरोपीय भाषा परिवार की एक शाखा हैं। आधुनिक भारतीय भाषाएँ जैसे, हिंदी, बांग्ला, मराठी, सिन्धी, पंजाबी, नेपाली, आदि इसी से उत्पन्न हुई हैं. अगर आप भी संस्कृत भाषा सीखना चाहते है तो यह ले सकते है |



10th के बाद Science में कैरियर ऑप्शन :

अगर आप डॉक्टर, इंजीनियर, वैज्ञानिक, आदि बनना चाहते है तो आप Science को चुन सकते है | विज्ञान लेने से आपके सामने ढेरो कैरियर ऑप्शन मौजूद होते है साथ ही अगर आपको बाद में इसे पढ़ने में समस्या आती है या मन नहीं लगता है तो आप बाद में arts स्ट्रीम में भी जा सकते है जबकि arts स्ट्रीम वाले छात्रों के सामने ऐसा ऑप्शन नहीं होता है वो अपनी स्ट्रीम नहीं बदल सकते है | लेकिन विज्ञानं लेते समय इस बाद का ध्यान अवश्य रखे की यह बाकि स्ट्रीमो से कठिन होता है इसमें आपको थोड़ी ज्यादा मेहनत करनी पड़ सकती है |  


MEDICAL SCIENCE
ENGINEERING Other Courses
Anatomy Aerospace Engineering Pharmaceuticals
Biochemistry Chemical Engineering Software Design
Bioinformatics Civil Engineering Forensic Science
Biomechanics Computer Science Engineering Ceramics Industry
Biostatistics Electrical Engineering Plastics Industry
Biophysics Engineering Management Paper Industry
Cytology Industrial Engineering Teaching
Dental Science Integrated Engineering Agrochemistry
Embryology Materials Engineering Astronomy
Epidemiology Mechanical Engineering Food Technology
Genetics Military Engineering Meteorology
Immunology Nuclear Engineering Photonics
Microbiology Electronics Engineering Seismology
Pathology Electronics & Communication Engineering Paleontology
Photobiology Geotechnical Engineering Geochemistry


आज कल ज्यातर स्टूडेंट Science को ही चुनते है क्यूकी इसमें ज्यादा कैरियर ऑप्शन मौजूद होते है लेकिन एक बात का ध्यान अवश्य रखे अगर आपको पढाई में अच्छी रूचि है और आप मेहनत कर सकते है तो ही विज्ञानं का चुनाव करे नहीं तो बाद में आपको पछताना भी पड़ सकता है अतः सोच समझ कर ही फैसला करें |  

Science में कौन कौन से सब्जेक्ट होते है :

Chemistry : इसमें आपको रसायनों के बारे में पढ़ने को मिलेगा जैसे की पानी, केमिकल, तरल पदार्थ, ठोस पदार्थ, द्रव्य पदार्थ आदि से जुड़ी जानकरी दी जाएगी है |

Physics: इसमें आपको भौतिकी,गति, उर्जा, घर्षण आदि के बारे में पढ़ने को मिलेगा। Physics साइंस के दुसरे विषय से ज्यादा कठिन माना जाता है। अगर आपकी रूचि है तो आप ले सकते है |


Biology: जीव विज्ञान में जीवों की संरचना, कार्यों, विकास, उद्भव, पहचान, वितरण एवं उनके वर्गीकरण के बारे में पढ़ाया जाता है | अगर आप भी जीव विज्ञानं में रूचि रखते है तो Biology को ले सकते है |

Mathematics: इसमें गणित सिखाया जाता है. यह गणित 10th में जो अपने पढ़ा है उससे अलग होता है। लेकिन इसे समझने के लिए आपको 10th तक के गणित की जानकारी होनी चाहिए |

Computer Science: अगर आप कंप्यूटर में अपनी रूचि रखते है तो आपको यह सब्जेक्ट जरुर पसंद आएगा. इस सब्जेक्ट में आपको कंप्यूटर की जानकारी, प्रोग्रामिंग भाषा, सॉफ्टवेर, इन्टरनेट आदि के बारे में सिखाया जाता है |

English: इसके बारे मे तो आप जानते ही होंगे इंग्लिश में आपको ग्रामर, टेंस, एक्टिव पैसिव, उपन्यास आदि पढ़ने होते है |  


10th के बाद Commerce में कैरियर ऑप्शन:


10वीं के बाद आपको तीसरा स्ट्रीम मिलता है Commerce अगर आप बैंकिंग, फाइनेंस, एकाउंटिंग, में अपना कैरियर बनाना चाहते है तो आप Commerce को चुन सकते है | अगर आप Commerce से 12th की पढाई पूरी करते है तो आप B.Com, BBA, BMS, BBM, CFA, CA, ICWA, CFP, B.F.A,B.C.A जैसे कोर्स के साथ अपनी ग्रेजुएशन पूरी कर सकते है |
  • Entrepreneurship
  • Chartered Accountancy
  • Forensic Accounting
  • Cost and Work Accountancy
  • Company Secretaryship
  • Investment Banking
  • Banking
  • Marketing
  • Market Research
  • Capital Marketing
  • Business Administration
  • Administration
  • Human Resource Management
  • Management
  • Insurance
  • Law
  • Media/Mass Communication
  • Financial Analysis

Commerce में कौन कौन से सब्जेक्ट होते है :

Accountancy : इस में आपको एकाउंटिंग कैसे करते है यह सिखाया जाता है | बैंक किसी कंपनी में लेखा जोखा कैसे करते है यह बताया जाता है | अगर आप CA यानि Chartered Accountant बनना चाहते है तो यह सब्जेक्ट ले सकते है |

Business Studies: इस सब्जेक्ट में बिज़नेस कैसे किया जाता है इसकी जानकारी दी जाती है | इस सब्जेक्ट को पढ़ कर आप यह जान सकते है की बिज़नेस कैसे चलाया जाता है सही ढंग से एक अच्छा बिज़नेस मन कैसे बने |

Economics: अर्थशास्त्र के अन्तर्गत वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन, वितरण, विनिमय और उपभोग का अध्ययन किया जाता है। अगर आप अर्थशास्त्री बनना चाहते है तो यह सब्जेक्ट चुन सकते है |

Mathematics: इस सब्जेक्ट में गणित सिखाया जाता है. अगर आप कॉमर्स में अच्छा पर्दर्शन करना चाहते है तो गणित पर आपकी पकड़ भी अच्छी होनी चाहिए

English: इसमें ग्रामर, टेंस, एक्टिव पैसिव, उपन्यास आदि जैसे टॉपिक्स पढ़ाये जाते है.इसके बारे में आपको पता ही होगा |  


10th के बाद प्रोफेशनल कोर्स :-

अगर आप ज्यादा पढाई नहीं करना चाहते है तो 10th के बाद आप प्रोफेशनल कोर्स भी कर सकते है। इन कोर्सो को करने के बाद आपको डिग्री के साथ साथ एक अच्छी जॉब भी मिल जाएगी |


ITI : आईटीआई का फुल फॉर्म Industrial Training Institute होता है और यह 2 साल का कोर्स होता है। यह एक प्रकार का focused training होता है जो की students को job oriented बना देता है। ITI में कई Trade होते है जैसे Civil, Mechanical, Electrician, fitter, Electronic, आदि इनसे से आप अपनी रूचि के अनुसार trade चुन सकते है। ITI पूरी होते ही जॉब लग जाती है निचे लिस्ट में आप सभी ट्रेड देख सकते है।


Two Years Engineering Trades (Eligibility with Math's & Science Subjects)  
  1. Draughtsman Civil
  2. Draughtsman Mechanical
  3. Electrician 
  4. Electronics Mechanic
  5. Information Technology & Electronic System Maintenance
  6. Instrument Mechanic
  7. Machinist Grinder
  8. Mechanic Motor Vehicle
  9. Radio & TV Mechanic
  10. Radiology Technician
  11. Refrigeration & Air Conditioner Mechanic
  12. Surveyor

  Two Years Engineering Trades under Centre of Excellence (CoE) Scheme 

  1. Automobile Sector
  2. Electrical Sector
  3. Information Technology Sector
  4. Production & Manufacturing Sector


  Two Years Engineering Trades (Eligibility with Non-Science Subjects) 

  1.   Fitter
  2.   Machinist
  3.   Painter (General)
  4.   Turner
  5.   Wireman

Diploma: इस कोर्स की अवधि तीन साल होती है डिप्लोमा को बहुत से लोग पॉलिटेक्निक नाम से भी जानते है. डिप्लोमा कोर्स ख़तम करने के बाद आप अपना एडमिशन सीधा बी.टेक सेकंड इयर में करवा सकते हो या फिर किसी कंपनी में नौकरी भी कर सकते हो. डिप्लोमा में बहुत से इंजीनियरिंग कोर्सेज कर सकते हो जैसे की civil engineering, computer engineering, electrical engineering, mechanical engineering ऐसे ही बहुत से कोर्सेज डिप्लोमा में करवाए जाते है।



Final word : तो उम्मीद है हमारे द्वारा जी गई जानकारी 10th के बाद क्या करे या कौन सा subject ले आपको समझ गया होगा और आप अपने लिए एक अच्छे विषय का चुनाव कर पाएंगे अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो हमें फीड बैक अवश्य दे धन्यवाद।
10th के बाद क्या करे (10th ke baad kya kare)   10th के बाद क्या करे (10th ke baad kya kare) Reviewed by Admin on Monday, June 22, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.